Pay

Free Shipping All Over India

Reach out via call/ WhatsApp for personal shopping experience

  • image1
  • image1
  • image1
  • image1
  • image1
image1

VIJAYANTI MALA – बैजंती माला

VM1

Rs.351

Benefits of vaiganti mala

वैजन्ती माला के लाभ

Vaijanti Mala is used in various Vishnu, Krishna and Rama Sadhana.

वैजन्ती माला का उपयोग विभिन्न विष्णु, कृष्ण और राम साधना में किया जाता है।

Vaiganti Mala removes all defects.

वैजन्ती माला सभी दोषों को दूर करती है।

Vaijanti Mala brings faith, peace and wisdom.

वैजंती माला विश्वास, शांति और ज्ञान लाती है।

Vyjanti Mala removes evil eyes.

वैजंती माला बुरी नजर को दूर करती है।

Vyjanti Mala increases will power and positive harmony in the body.

वैजंती माला शरीर में इच्छा शक्ति और सकारात्मक सद्भाव बढ़ाती है।

Vaijayanti Mala is also used in Kundalini Jagran Sadhana.

वैजयंती माला का उपयोग कुंडलिनी जागरण साधना में भी किया जाता है।

Vaiganti Mala brings success and joy in life.

वैजन्ती माला जीवन में सफलता और आनंद लाती है।

Vyjanti Mala is used for tantra in peace.

वैजंती माला का उपयोग तंत्र में शांति कर्म के लिए किया जाता है।

Product Dimension
normal size Gram
Product Weight
NIL Gram
Packet Weight
nil Gram
Packet Dimension
nil Gram

Description


Description Hindi

|| जय चक्रधारी || भारतीय स्वतंत्रता दिवस की सभी को हार्दिक शुभकामनाएं| जहाँ एक और हम आज़ादी का पर्व मना रहे रहे वही दूसरी और क्या वास्तव में ही हम आज़ादी का आनंद ले पा रहे हैं ?? कृष्णा ने भी कहा है – आनंद मुक्ति में हैं, बंधन में नहीं .. तो क्या वास्तव में ही आप मुक्त अवस्था में हैं ?? यह कैसे साबित हो | आपका जैसा हृदय किया आपने वैसा ही किया ?? क्या ऐसा हो रहा है ? यह प्रश्न हो सकता हैं अंतर्मन पर चोट करे, किन्तु हमे लगता है हम मात्र अपने आप को मुर्ख बना रहे हैं यह समझ कर के हम आज़ाद हो गए | यदि आज़ादी आ ही गयी – तो फिर क्यों मन और मस्तिष्क की विचार क्रांति अनुसार क्यों व्यक्ति आगे नहीं बढ़ पा रहे ? आज़ादी आ ही गयी तो फिर क्यों न चाहते हुए भी प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप की दासता ?? क्यों हमारी संस्कृति का अध्यन्न और उसमे बताई गयी व्यवहारिकता आज भी परदे के पीछे है| इससे यही प्रतीत होता है या तो हम दास ही हैं, या फिर मानसिकता में दासत्व का भयंकर प्रवेश हो चुका है | कैसे बहार निकले इससे के कर्मो के और मस्तिष्क क घोड़े दौड़ चले? आइये चर्चा करते हैं, कृष्णा प्रिय – बैजंती माला पर | हो सकता हैं आपकी मनोकामना पूर्ती में बैजंती माला ही सहायता कर देवे | बैजंती माला – नाम बहुत लोगों ने सुना हैं, किन्तु बहुत से लोग इसे आज भी पुष्पों का कोई पौधा मानते हैं किन्तु सत्य इसके उलट है | बैजंती – एक पौधा तो है – किन्तु इसके द्वारा उत्पन्न फल – चरम अवस्था में इस रूप में आता हैं – मानो कमल पुष्प की कलियाँ हों | इसीलिए यह प्राकृतिक मोती कृष्णा को अति प्रिय हैं | इसे शरीर पर धारण करने से ही, मन मस्तिष्क की ऊर्जाएं दोगुनी गति से कार्य करने लगती हैं | इसको धारण करने से मन का भय समाप्त हो जाता है | इसको धारण करने से – वाणी में माधुर्य आ जाता है | और यहाँ तक भी हो जाता है – के धारण करता को उसका मन चाहा प्रेम प्राप्त हो जाये | यह वास्तव में ही ऊर्जा का एक पुंज है | इसपर – राम कृष्णा के किन्ही भी मन्त्रों को सिद्ध किया जा सकता है | आइये अब बात करते हैं आयुर्वेदिक पहलु की – हम तो भुला रहे हैं किन्तु आज यह पौधा विदेशो में अत्यधिक प्रचलित है | चीन – में इसको चावल की तरह उबाल कर खा लिया जाता है | क्युकी इसमें फाइबर की मात्रा अत्यधिक है, जिससे पाचन तंत्र बहुत मजबूत हो जाता है | थाईलैंड में इसकी चाय बना कर पी ली जाती हैं – क्युकी इसकी चाय पीने से ही – बुखार उतर जाती हैं | यह काम भारत के आदिवासी भी करते हैं , इसीलिए इसे – आदिवासियों की दवा के नाम से भी जाना जाता है | जापान में – इसका सूप बना कर पी लिया जाता हैं, इससे फेफड़ो की बीमारियों से बचाव होता है | अमेरिका में – इसका पाउडर बना कर – शारीरिक शक्ति बढ़ने हेतु सुबह शाम खा लिया जाता है | और भारत में – लोगो को पता ही नहीं के – बैजंती क्या होती है | बैजंती वशीकरण में प्रयुक्त होने के साथ साथ इतने अच्छे परिणाम भी देती है | सहज ही उत्पन्न हो जाने वाली बूटी – क्यों आज समाज में लुप्त प्राय की अवस्था में है ?? क्या यह गुलामी नहीं है?? फिर कैसी आजादी का आनंद ले रहे हो आप | कृष्णा आरती से कुछ कथन दे रहा हूँ पढ़िए – विचार कीजिये – और भारतीय संस्कृति को उन्नत बनाने हेतु – अपने देश का सहयोग कीजिये | आरती कुंजबिहारी की श्री गिरधर कृष्णा मुरारी की | गले में बैजंती माला, बजावे मुरली मधुर बाला || || ॐ का झंडा ऊँचा रहे ||

Need help with this product?

Call Us

+91 9887917255

WhatsApp Us

+91 9887917255

Write to Us

namaste@chakradhari.com

We'll get back to you within 24 hours

Reviews

star.pngstar.pngstar.pngstar.pngstar.png

Jay Chakradhari Guruji e baijanti Mala apne aap Mein Hi bahut hi durlabh hai aur bahut hi Sundar Bani Hui Hai dhanyvad Guruji

review by JYOTI on 2021-07-17

Cancelled

review by V RAMBABU on 2021-07-26

Similar Product

More From Chakradhari

SCROLL UP