Facebook
KINDLY REGISTER YOURSELF
  • Premium Sandalwood Log - 50 Grams
  • Premium Sandalwood Log - 50 Grams
  • Premium Sandalwood Log - 50 Grams
CHAKRADHARI

Premium Sandalwood Log - 50 Grams उत्तम चंदन का लट्ठा

SKU: CW
MRP:
US $ 26.60
(Inclusive of all taxes)
Attribute Details (English) Details (Hindi)
Quality 100% Natural 100% प्राकृतिक
Grade A Grade ए ग्रेड
Weight 50 grams 50 ग्राम
Fragrance Rich, Long-lasting Aroma गहरी, लंबे समय तक रहने वाली सुगंध
Uses Aromatherapy, Religious Rituals, Skincare, Medicinal सुगंध चिकित्सा, धार्मिक अनुष्ठान, त्वचा की देखभाल, औषधीय उपयोग
Source Indian Origin भारतीय मूल
Eco-friendly Yes हाँ
Chemical-Free Yes हाँ
Antiseptic Properties Yes हाँ
Cooling Effect Yes हाँ
Shloka शुक्लांबरधरं विष्णुं शशिवर्णं चतुर्भुजम्। प्रसन्नवदनं ध्यायेत् सर्वविघ्नोपशान्तये॥ शुक्लांबरधरं विष्णुं शशिवर्णं चतुर्भुजम्। प्रसन्नवदनं ध्यायेत् सर्वविघ्नोपशान्तये॥
Shloka Translation "I meditate upon Lord Vishnu, who is adorned in white garments, whose complexion is like the moon, who has four arms, and who has a serene countenance. Let us meditate upon this peaceful countenance of Lord Vishnu, to remove all obstacles." "मैं भगवान विष्णु का ध्यान करता हूँ, जो सफेद वस्त्र धारण किए हुए हैं, जिनका रंग चंद्रमा के समान है, जिनके चार भुजाएँ हैं, और जिनका चेहरा शांत है। इस शांत चेहरे का ध्यान करते हैं ताकि सभी विघ्न दूर हो जाएं।"
Country of Origin: India
More Information
- +
- +

Description

।। जय चक्रधारी ।।

चंदन के लट्ठों के लाभ

  1. अरोमाथेरेपी:

    • सुगंध चिकित्सा: चंदन के लट्ठों का उपयोग अरोमाथेरेपी में किया जाता है, जिससे मानसिक शांति और विश्राम मिलता है। इसका तिलक बनाकर कान के दोनों कर्णपालि पर किया जाता है।
    • तनाव और चिंता: चंदन की सुगंध तनाव और चिंता को कम करने में सहायक होती है।
  2. औषधीय गुण:

    • एंटीसेप्टिक: चंदन में प्राकृतिक एंटीसेप्टिक गुण होते हैं, जो घावों और चोटों को ठीक करने में मदद करते हैं, इसलिए इसे ऐसे स्थानों पर भी लगाया जा सकता है। इस मिश्रण में अकेला चंदन ही लगाया जाएगा।
    • सूजनरोधी: चंदन का पेस्ट सूजन को कम करने और त्वचा को ठंडक पहुंचाने में प्रभावी होता है। इस पर भी ऊपर वाला ही नियम लागू होता है।
  3. धार्मिक और आध्यात्मिक उपयोग:

    • पूजा और अनुष्ठान: चंदन के लट्ठों का उपयोग पूजा और धार्मिक अनुष्ठानों में किया जाता है, जिससे वातावरण पवित्र और सुगंधित बनता है।
    • हवन और यज्ञ: चंदन के लट्ठों का उपयोग हवन और यज्ञ में किया जाता है, जिससे पवित्र धुआं उत्पन्न होता है जो वातावरण को शुद्ध करता है।
    • तिलक: चंदन के लट्ठों का उपयोग असली गुलाबजल और असली केसर को घिसबट्टा पर घिसकर मिश्रण तैयार किया जाता है, उसी का तिलक योग्य है। यही तिलक भगवान को भी अर्पित किया जाता है और यही तिलक हर मनुष्य भी लगा सकता है। कई लोग इसके साथ असली कर्पूर भी लेकर चूरा करके इस तिलक में घोलकर प्रयोग करते हैं, हालांकि कर्पूर की मात्रा कम ही रहती है।
  4. पर्यावरण के अनुकूल:

    • प्राकृतिक और जैविक: चक्रधारी प्रदत्त चंदन के लट्ठे एक प्राकृतिक और जैविक उत्पाद हैं, जिसमें कोई हानिकारक रसायन नहीं होते।
  5. सौंदर्य प्रसाधन:

    • त्वचा की देखभाल: चंदन का पेस्ट मुंहासे, दाग-धब्बे और सूजन को कम करने में सहायक होता है। यह त्वचा कोमल और चमकदार बनाता है।
    • फेस पैक: चंदन के लट्ठों को घिसकर बनाए गए पेस्ट का उपयोग फेस पैक में किया जाता है, जिससे त्वचा को पोषण और ठंडक मिलती है।

निष्कर्ष

चंदन के लट्ठे एक बहुमूल्य प्राकृतिक संसाधन हैं, जिसमें कई औषधीय, सौंदर्य, और धार्मिक लाभ होते हैं। इसकी प्राकृतिक सुगंध और त्वचा के लिए इसके अद्भुत गुण इसे विशेष रूप से महत्वपूर्ण बनाते हैं। चंदन के लट्ठों का उपयोग शरीर और मन दोनों के लिए लाभकारी होता है और यह विभिन्न धार्मिक और सांस्कृतिक प्रथाओं में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

।। ओउम का झंडा ऊँचा रहे ।।

|| Jai Chakradhari ||

Benefits of Sandalwood Logs

  1. Aromatherapy:

    • Aromatherapy: Sandalwood logs are used in aromatherapy, providing mental peace and relaxation. The paste made from it is applied on both earlobes.
    • Stress and Anxiety: The fragrance of sandalwood helps reduce stress and anxiety.
  2. Medicinal Properties:

    • Antiseptic: Sandalwood has natural antiseptic properties that help heal wounds and injuries, so it can be applied to such areas. Only sandalwood will be used in this mixture.
    • Anti-inflammatory: Sandalwood paste is effective in reducing inflammation and cooling the skin. The same rule applies here as well.
  3. Religious and Spiritual Uses:

    • Puja and Rituals: Sandalwood logs are used in puja and religious rituals, making the environment pure and fragrant.
    • Havan and Yajna: Sandalwood logs are used in havan and yajna, producing sacred smoke that purifies the atmosphere.
    • Tilak: Sandalwood logs are used by grinding with real rose water and real saffron on a grinding stone to prepare a mixture. This tilak is suitable for applying to oneself and offering to deities. Many people also add real camphor powder to this tilak mixture, although the amount of camphor is minimal.
  4. Environmentally Friendly:

    • Natural and Organic: Sandalwood logs provided by Chakradhari are a natural and organic product, free from harmful chemicals.
  5. Cosmetics:

    • Skincare: Sandalwood paste helps reduce acne, blemishes, and inflammation. It makes the skin soft and radiant.
    • Face Pack: The paste made by grinding sandalwood logs is used in face packs, providing nourishment and cooling to the skin.

Conclusion

Sandalwood logs are a valuable natural resource with many medicinal, cosmetic, and religious benefits. Its natural fragrance and remarkable properties for the skin make it especially important. The use of sandalwood logs is beneficial for both the body and mind, playing a significant role in various religious and cultural practices.

|| Flag of Aum Remain High ||

Reviews


Login
Or login with
Don't have an account?
Sign Up
×

Your Shopping Cart


Your shopping cart is empty.